बात साक़ी की न टाली जाएगी

Lyricist: Habib Jaleel
Singer: Jagjeet Singh, Chitra Singh

बात साक़ी की न टाली जाएगी
कर के तौबा तोड़ डाली जाएगी।

देख लेना वो न खाली जाएगी
आह जो दिल से निकाली जाएगी।

ग़र यही तर्ज़-ए-फुगाँ है अन्दलीब
तो भी गुलशन से निकाली जाएगी।

आते-आते आएगा उनको ख़याल
जाते-जाते बेख़याली जाएगी।

क्यों नहीं मिलती गले से तेग़-ए-नाज़
ईद क्या अब के भी खाली जाएगी।

फुगाँ = Cry of Pain
अन्दलीब = Nightingale
तेग़ = Sword

2 Replies to “बात साक़ी की न टाली जाएगी”

  1. वो कहते हैं दिल पे भरोसा इतना नहीं करते,
    हम कहते हैं महोब्बत में सोचा नहीं करते,
    वो कहते हैं नज़रों से दूर पर दिल के पास हुँ,
    हमने कहा सपनो से दिल को बहलाया नहीं करते

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *